About Us

About Ramkrishna Shastri Ji

श्रद्धेय श्री रामकृष्ण शास्त्री जी महाराज की अध्यक्षता में श्री राधा माधव सेवा जन कल्याण समिति का गठन हुआ जिसका उद्देश्य प्रतिवर्ष धार्मिक अनुष्ठान का आयोजन कर समाज को धर्म के प्रति जागरूक करना है । - श्री रामकृष्ण शास्त्री जी महाराज​

 

श्री रामकृष्ण शास्त्री जी महाराज​

जन्म

 रामकृष्ण​
 18  दिसंबर 1970 

 ऊँचा गाँव, बरसाना

माता-पिता  श्री लक्ष्मीनारायण पाठक और श्रीमती रूपवती

अनुक्रम

  • 1 जीवन चरित्र 
    2 जीवन तत्त्व और मार्गदर्शन 
  • 3 कार्य
    4 संदर्भ

जीवन चरित्र 

श्रद्धेय श्री रामकृष्ण शास्त्री जी महराज का जन्म ब्रज के क्षेत्र, ऊँचा गाँव, बरसाना में 18 दिसंबर 1970 को एक ब्राह्मण परिवार में श्री लक्ष्मीनारायण पाठक और श्रीमती रूपवती पाठक के यहां  हुआ।

प्राथमिक शिक्षा महाराज श्री ने कोसी में प्राप्त की, प्रारंभ से ही श्रीजी महल (राधा रानी मंदिर ) बरसाना एवं कुलदेवी के मंगला आरती के दर्शन के लिए महाराज श्री नित्यप्रति जाया करते थे। 10 वर्ष की आयु में महाराज श्री की माताजी का स्वर्गवास हो गया और तब से महाराज श्री अपनी दादी श्रीमती जयदेवी जी के पास में रहे, दादीजी अनेक धार्मिक कथायें महाराज श्री को श्रवण कराया करती थी। पूज्यश्री के पिताजी श्री गोकुलचंद्रमा जी मंदिर (कामवन) में वर्षों से सेवा प्रदत है ।

जीवन तत्व​ और मार्गदर्शन : 

घायल पशु को उठाकर एम्बुलेंस के माध्यम से अस्पताल ले जाना और फिर उनकी भलाई के लिए हर उचित उपचार प्रदान करना ।

महाराज श्री ने संस्कृत में शिक्षा राधा बिहारी इंटर कॉलेज (बरसाना) से प्राप्त की एवं अपने चाचा जी श्री श्यामसुन्दर पाठक जी के साथ इंद्रप्रस्थ राजधानी में आने का अवसर प्राप्त हुआ। संगीत एवं संस्कृत में ज्ञान और रुचि के कारण दिल्ली में लक्ष्मीनारायण मंदिर में सेवा के लिए आमंत्रण प्राप्त हुआ ।

वहाँ प्रतिदिन महाराज श्री द्वारा भजन एवं श्रीमद् भागवत कथा के अध्याय के वाचन से प्रभावित हो, लक्ष्मीनारायण मंदिर (शालीमार बाग, दिल्ली) के ट्रस्ट के पदाधिकारियो द्वारा महाराज श्री को श्रीमद् भागवत सप्ताह के आयोजन के लिए सन 1994 में आमंत्रित किया । वह दिन और आज 2017 में 22 वर्ष पूर्ण हो गये है, महाराज श्री द्वारा श्रीमद् भागवत कथा, श्री रामकथा एवं श्रीमद् देवीभागवत कथा की धारा अनेकानेक प्रांतो में बह रही है ।

श्रद्धेय श्री महाराज श्री ने गुरु दीक्षा अनंतश्री विभूषित महामण्डलेश्वर श्री श्री 1008 श्री डॉक्टर स्वामी शाश्वतानंद गिरी जी महाराज से प्राप्त की और महाराज श्री का नाम रामबाबू शास्त्री जी से श्रद्धेय श्री रामकृष्ण शास्त्री जी महाराज हुआ ।
कार्य :

  • वर्ष 2016 में श्री बाँके बिहारी जी के आशीर्वाद स्वरूप महाराज श्री की अध्यक्षता में श्री भागवत कथा संस्था का निर्माण हुआ और संस्था के अंतर्गत गाय और गौरी की सेवा को प्रमुख रख सर्वप्रथम श्री रामकृष्ण गौशाला का निर्माण चल रहा है और निशुल्क कन्या विवाह का भी आयोजन संस्था के द्वारा समय समय पर आयोजित किया जाएगा ।

संदर्भ :

  1. श्री रामकृष्ण शास्त्री जी महाराज
  2. Ramkrishna Shastri Youtube

 

Amreesh Kumar Aarya (वार्ता) 11:31, 29 दिसम्बर 2017 (UTC)Amreesh Kumar Aarya